उस सोने के खदान की असली कहानी, जिसपर बनी केजीऍफ़, टीपू सुल्तान से जुड़ा मामला आया

जी एफ चैप्टर 2 ने खूब नाम और पैसा कमाया। जिसको लेकर फैंस काफी खुश हैं। इस फिल्म में साउथ ऐक्टर यश, संजय दत्त, रवीना टंडन तथा प्रकाश राज है। लोगों ने फिल्म से वैसी ही उम्मीद लगाए हुए हैं। जैसा कि पहला फिल्म के जी एफ चैप्टर वन दर्शको को पसंद आई थी। ये फिल्म की असली कहानी क्या आप जानते हैं। इस फिल्म का असल फुलफार्म है कोलार गोल्ड फील्ड्स इस जगह का अपना एक इतिहास है।

जो‌कि है बेहद अहम है। कर्नाटक के कोलार जिले के 30 किमी की दुरी पर कोलार गोल्ड फील्ड्स की खदान है।  ये खदान अमेरिका की शासनकाल में बहुत ही अहम थी। एक मीडिया रिपोर्ट के हवाले से खबर है कि 1799 मज श्रीरगंपट्टनम के युद्ध में मुगल शासक टीपू सुल्तान ने उस खदान के पास से मार भगाया था तथा खदान पर कब्जा जमा लिया था। कुछ सालों के बाद अंग्रेजों ने मैसूर को टीपू को दे दिया था लेकिन कोलार को अपने पास ही रखा था। इतिहासकार ऐसा मानते हैं कि चोल साम्राज्य के लोग,इस खदान से हाथ डालते थे और पैसे भी निकालते थे। बताया जाता है कि किस अंग्रेजो ने भोले भाले लोगों ने को लुटा और बेवाकुफ बनाया।  ब्रिटिश लेफ्टिनेंट जान वारेन को पता चला कि गांव वाले सोना निकालते हैं तो गांव वालों को इनाम का लालच दिया इनाम का लालच सुनकर मिट्टी भर भर कर बैलगाड़ी से सभी गांव वाले वारेन के पास पहुंचे जब ग्रामीणो ने इन मिट्टी को घोया तो इसमें से सोने के अंश निकले‌ इसके बाद वारेन को यकीन नहीं हुआ उन्होंने इ, मामले की जांच कराई। जिसके बाद वारेन ने लगभग 56 किलो सोना निकलवाया।

1947 में  भारत की आजादी के बाद सभी खदानों पर भारत ने कब्जा कर लिया था और उसके बाद खुदाई कराई गई। साल 1970 का था जब भारत गोल्ड माइन्स को कैजीएफ सौंप दिया गया। कंपनी ने तो अपने स्तर पर काम शुरू कर दिया लेकिन कंपनी को वैसी तरक्की नहीं मिल सकी जैसा वो चाहती थी। और कंपनी घाटे में चली गई। उसकी हालत इतनी बदतर हो गई कि कर्मचारियों को पैसे देनै के पैसे भी नहीं थी।हम जिसके बाद साल 2001मै कंपनी बंद कर दी गई ‌रिपोर्ट के हवाले से लगभग 121 सालो में 900 टन है ज्यादा सोना निकाला जा सका है।इस पर ही 2018पर फिल्म बनाई गई थी जोकि सुपरहिट फिल्म साबित हुई थी जिसके बाद पार्ट 2आया है जोकि 14अप्रैल को सिनेमाघरों में आएगी देखना दिलचस्प होगा कि इस फिल्म को दर्शकों का कितना प्यार मिलता है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Singapore